एक ऐसा गांव जहां जिस्म का व्यापार मजबूरी नहीं, पारिवारिक धंधा है!

एक ऐसा गांव जहां शरीर का व्यापार करना मजबूरी नहीं, बल्कि पारिवारिक व्यवसाय है: – दोस्तो अपने भारत में वेश्यावृत्ति एक बहुत बड़ी समस्या है। शरीर बेचने वाले व्यवसाय को भारत में अवैध मानते हैं। लेकिन ये धंधा अभी भी देश के कई सारे हिस्सो में मौजूद हैं।

इसी प्रकार से पुलिस ने समय -समय पर छापेमारी की और कई सारी युवा पीड़ितों को मुक्त भी कर किया। दोस्तो ये एक ऐसा धंधा है जहां कोई भी महिला अपने इच्छा से नहीं जाती है बल्कि उसे जबरदस्ती या फिर किसी दबाव के कारण अपने शरीर को बेचना पड़ा।

दोस्तो हाल ही के कॉर्पोरेट धोखाधड़ी के परिणामस्वरूप इस सुविधा की मांग में काफी ज्यादा वृद्धि पैदा करती है और इसका नतीजा यह होता है कि लोग निर्दोष लड़कियों का अपहरण करते हैं और फिर उन्हें वेश्याओं के पास बेच देते हैं।

इसी प्रकार से ही सभी छोटी लड़कियों को गंदे काम में धकेल दिया जाता हैं। अगर इन लडकियों को एक अवसर दिया जाए, तो ये अच्छे काम भी कर सकती हैं।

यह भी पढ़ें: डांस करते हुए Urvashi Rautela ने उतार दिए कपड़े, खूब वायरल हो रहा है वीडियो

लेकिन दोस्तो आज हम आप लोगो को एक ऐसे गांव के बारे में बताएंगे, जहां महिलाएं इस व्यवसाय को एक महान धंधा मानती है और ना ही किसी मजबूरी के चलते अपने शरीर को बेचती है।

इस व्यवसाय को कुलीन वर्ग की महिलाओं ने दशकों से करती आ रही है। उनके कुलीन वर्ग की महिलाएं दशकों से यह धंधा करती आ रही हैं।

ये युवतियां भी इस धंधे को अपना विरासत में मिला कारोबार मानती हैं और इसे बढ़ाती हैं। दोस्तो ये सभी युवा महिलाएं इस व्यवसाय को अपना विरासत व्यवसाय मानती हैं और इसमें काफी सुधार भी करती हैं।

सबसे आश्चर्य की बात तो यह है कि 10 से 12 वर्ष की मासूम लड़कियों को भी इस व्यवसाय में भेज दिया जाता है। परिवार का युवक एक युवा महिला की तरह हो जाता है और परिवार उसे वेश्यावृत्ति में जाने भी देता है।

एक समय में, महिलाओं को पुरू के साथ बिस्तर पर भेजने के लिए उनसे दस हजार रुपये वसूलती हैं इसलिए 18 वर्ष से अधिक उम्र की महिलाएं हर दिन डेढ़ से दो हजार रुपये तक कमाती है।

दोस्तो अक्सर जो व्यक्ति इन युवा महिलाओं के लिए ग्राहक खोजने का कार्य करता है, वो भी अपना खुद का कमीशन लेता है। इनमें से युवा महिला के अधिकांश ग्राहक ट्रक ड्राइवर होते हैं जो लोग यहां पैसे देते हैं वो अपने हवस को पूरा करते हैं।

वेश्यावृत्ति में शामिल सभी लोगों का ये मानना ​​है कि ज्यादातर युवा लड़कियों का ही मांग ज्यादा होते है। दोस्तो इस गाँव की अधिकांश महिलाएं अभिजात वर्ग के व्यवसाय में शामिल हैं, जबकि कुछ को किसी मजबूरी के कारण धकेल दिया जाता है।

गाँव के नाम का आप लोग भी लंबे सामय से इंतजार कर रहे है? तो हम लोग जिस गाँव के बारे में बात कर रहे हैं, वह राजस्थान के भारतपुर गांव में स्थित है।

यहां पर एक बस्ती है जहां पर वेश्यावृत्ति के लोगों का एक अच्छा व्यवसाय है। आप लोग मध्य प्रदेश में भी इस टीम के कुछ लोगो को पा सकते हैं।

दोस्तो यदि आप इस गाँव में यात्रा करने की कोई योजना बना रहे हैं, तो सावधान रहें। क्योंकि वेश्यावृत्ति भारत में एक संवैधानिक अपराध माना जाता है। आप इन महिलाओं के साथ यौन संबंध बनाके इस अपराध को और भी बढ़ावा देने का काम करेंगे।

तो इसलिए, आप लोगो को इन सभी चीजों से दूर रहना होगा। कुछ लालची पुजारियों के कारण ही, वेश्यावृत्ति अपराध को अभी भी समाज में देखा जा रहा है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Web Series की दुनिया में सपना भाभी हैं सबसे गंदी अभिनेत्री! Disha Patani पर फिर चढ़ा Boldeness का खुमार, दिया जबरदस्त Bold Pose